उत्तर प्रदेश गोंडा लाइफस्टाइल

जागरूकता बिना असम्भव है स्वच्छ सर्वेक्षण में सफलता प्राप्त होना :- प्रभांशु श्रीवास्तव

स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 को लेकर निकली महारैली, डीएम ने हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

गोंडा  ! जन-जन ने यह ठाना है, गोण्डा को स्वच्छ बनाना है के नारों के साथ नगर में विशाल स्वच्छता जागरूकता रैली निकाली गई। रैली का आयोजन स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 को लेकर नगर पालिका गोण्डा द्वारा किया गया। डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने गांधी पार्क से महारैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
बताते चलें कि जिले में स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 जो कि 04 जनवरी 2019 से 31 जनवरी 2019 तक होगा, को लेकर जिला प्रशासन व नगर पालिका द्वारा सफाई अभियान के साथ ही जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन शुरू कर दिया गया है। डीएम गोण्डा कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने बताया कि इस बार स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 के तहत स्वच्छ वार्ड प्रतिस्पर्धा कार्यक्रम 15 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक, चलाया जा रहा है। जिसमें जनसहभािगता सबसे महत्वपूर्ण अंग है। जबतक नगरवासी स्वचछता के प्रति जागरूक नहीं होगें और अपनी सहभािगता नहीं देगें तक तब स्वच्छता अभियान सफल नहीं हो सकता है। इसलिए उन्होने जनसामान्य से अपील की है कि वे सब स्वच्छ सर्वेक्षण को ध्यान में रखते हुए विशेष सफाई रखंे जिससे जिले को स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में बेहतर रैंक मिल सके। जिलाधिकारी ने बताया स्वच्छ वार्ड प्रतिस्पर्धा में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वाले वार्डों को पुरस्कार भी मिलेगा। जनपद स्तरीय पुरस्कार समारोह कार्यक्रम 23 दिसम्बर को तथा राज्य स्तरीय पुरस्कार समारोह 25 दिसम्बर को आयोजित होगा। स्वचछ सर्वेक्षण को लेकर डीएम ने सभी ईओ को सख्त व स्पष्ट निर्देश दिए है कि शहर में नालियों, खाली स्थानों, मुहल्लो, पार्कों व सार्वजनिक स्थलों पर पड़ी पन्नियों, डिस्पोजेबल ग्लासों को पूरी तरह बिनवा कर साफ सुथरा करा दें। इसके लिए वार्डवार बाकायदा अभियान चलाया जाय जिससे इस बार जिला विगत वर्ष की अपेक्षा और अच्छी रैंक प्राप्त कर सके। उन्होने कहा कि शासन द्वारा वार्डों में समतियिां गठित कर निगरानी करने व सहयोग प्राप्त करने के लिए निर्देश दिए गए है जिसके अनुसार सभी ईओ वार्ड के सभासदों का सहयोग लेकर समितियां गठित कर सम्भ्रान्त जनों को जोड़े और लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूकर करें। पेयजल व्यवस्था, कूड़ा कचरा निस्तारण, परिसरों के भीतर स्वच्छता, कूड़ेदानों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने, अस्पतालों का कचरा, स्कूलों, विद्यालयों का कचरा होटलों ठेलों आदि से निकलने वाले कूड़े कचरे के समुचित निस्तारण का प्रबन्ध कराए जाने व समय सफाई कार्य कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं।
महारैली के शुभारम्भ के अवसर पर एडीएम रत्नाकर मिश्र, सिटी मजिस्ट्रेट सुभाषचन्द्र प्रजापति, नगरपालिका अध्यक्ष उज्मा राशिद, पूर्व चेयरमैन कमरूद्दीन, ईओ नगरपालिका विकास सेन, जिला विज्ञान क्लब की समन्वयक रेखा शर्मा, सभासद प्रकाश आर्य हीरू, नारी ज्ञान स्थली, एलबीएस पीजी कालेज व अन्य विद्यालयों की छात्र-छात्राएं व नगर के सम्भ्रान्तजन मौजूद रहे।