उत्तर प्रदेश खेल गोंडा शिक्षा

इन्टीग्रेटेड स्पोर्ट्स एण्ड कल्चरल मीट का शुभारम्भ, डीएम व एसपी ने पुलिस लाइन में दिखाई हरी झंडी

हौसले बुलन्द हों तो अक्षमता व्यक्ति को कामयबाी से नहीं रोक सकती-डीएम
 
10 दिव्यांगों को डीएम ने बांटी ट्राईसाइकिल
गोंडा ! अक्षमता है तो क्या हुआ, हम सक्षम बनेगें, हम मेहनत करके उत्तम और सर्वोत्तम बनेगें के संकल्प व उद्घोष के साथ पुलिस लाइन ग्राउण्ड में विश्व दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित एक दिवसीय इन्टीग्रेटेड स्पोर्ट्स एण्ड कल्चरल मीट का आगाज हुआ। डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने बतौर मुख्य अतिथि व एसपी आर0पी0 सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में पुलिस लाइन पहुंचकर मीट का औपचारिक शुभारम्भ किया।
विश्व विकलांग दिवस के अवसर पर दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ करने व ध्वजारोहण तथा मार्च पास्ट की संयुक्त सलामी लेने के बाद डीएम ने दिव्यांग बच्चों को बधाई व शुभाकमनाएं देते हुए कहा कि दिव्यंाग बच्चों की लगन, जिजीविषा व अन्दर छिपी हुई क्षमता को देखकर वे अभिभूत हैं। उन्होने कहा कि बहुत सारे ऐसे लोग होते हैं जो शरीर से नहीं मन से अपने कर्मों से विकलांग होते हैं। उन्होने कहा कि ऐसे लोगों को इन अपंग बच्चों से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होने कहा कि यदि इंसान के इरादे बलुन्द हों तो अक्षमता व्यक्ति को बुलन्दी पर पहुंचने से नहीं रोक सकती। डीएम बेसिक शिक्षा विभाग तथा बच्चों को आश्वस्त करते हुए कहा कि इन प्रतिभावान दिव्यांग बच्चों की शिक्षा दीक्षा व उत्थान के लिए जिला प्रशासन की ओर से वे हर सम्भव मदद करेगें। उन्होने बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा दिव्यांगों के लिए किए जा रहे इस अच्छे प्रयासों की खुले मंच से प्रशंसा की। उन्होने कई कामयाब दिव्यांग लोगों को उदाहरण देकर दिव्यांग बच्चों की हौेसला आफजाई की। एसपी आर0पी0 सिंह ने भी बच्चों व बेसिक शिक्षा विभाग के इस बेहतरीन कार्यक्रम आयोजन के लिए धन्यवाद दिया। जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान राजेश सिंह ने ब्यौरा देते हुए बताया कि जिले में 4400 बच्चों को चिन्हांकन किया गया है जो कि दिव्यांगता की श्रेणी मै हैं। उन्होने बताया कि दिव्यांग बच्चों के शिक्षण व अन्य कार्यो के लिए जिले में 37 विशेष अध्यापक तैनात किए गए हैं जो इन दिव्यांग बच्चों की मदद बतौर अध्यापक व गाइड करते हैं। जिले के विभिन्न स्कूलों से आए हुए दिव्यांग बच्चों ने सरस्वती वन्दना, स्वागत गीत प्रस्तुत कर अतिथियों का मन मोह लिया और अपनी प्रतिभा से उन्हें सोचने पर मजबूर कर दिया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मनीराम सिंह ने अतिथियों का आभर व्क्त किया तथा उन्हें स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। इसक बाद डीएम व एसपी ने दिव्यांगजन विकास विभाग के सहयोग से 10 दिव्यांगों को ट्राईसाइकिल भी बांटी। कार्यक्रम का संचालन अध्यापक मोहम्मद इरफान मोईन ने किया।
इस दौरान जिला दिव्यांगजन विकास अधिकारी अंनजी वर्मा, जिला समन्वयक समेकित शिक्षा अभियान राजेश सिंह, एमडीएम प्रभारी गनेश गुप्ता, जिला व्यायाम शिक्षक संजय सिंह, सभी खण्ड शिक्षा अधिकारीगण, याकूब सिद्दीकी अज्म, के अलावा जिलाध्यक्ष बेसिक शिक्षक संघ आनन्द त्रिपाठी, शिक्षक नेता विनय तिवारी, इन्द्र प्रताप सिंह, अविनाश सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।
इन्होने मारी बाजी
खेल प्रतियोगिता के परिणामों के बारे में बीएसए ने बताया कि बालक सवंर्ग 50 मीटर दौडत्र में धु्रव प्रथम, रमेश द्वितीय, नसीरूद्दीन तृतीय, 100 मीटर दौड़ में सतेन्द्र प्रथम, अरूण जायसवाल द्वितीय, अरूण कुमार तृतीय, 50 मीटर प्राथमिक स्तर में आसिफ अली प्रथम, शिवपूजन द्वितीय, असरफ तृतीय, कुर्सी दौड़ में ज्ञानचन्द्र प्रथम, रंजीत कुमार द्वितीय, सत्येन्द्र भारती ने तृतीय स्थान हासिल किया। वहीं बालिका संवर्ग में 100 मीटर दौड़ में राधा प्रथम, अंशिका द्वितीय नेहा तृतीय, 50 मीटर दौड़ में नेहा भारती प्रथम, मालती द्वितीय, निशा तृतीय, कुर्सी दौड़ में अर्चन प्रथम, निशा द्वितीय, सोनम तृतीय, गुब्बारा फोड़ में शहदाब प्रथम, अरूण कुमार द्वितीय तथा मोहित तृतीय स्थान रहे। निर्णारूक मण्डल में अतुल कुमार श्रीवास्तव, चन्द्रिका सिंह, सुशील सिंह, आनन्द कुमार यादव, सतेन्द्र कुमार, मंजुल मयंक, शिवशंकर, रामेन्द्र मोहन, रवि यादव, बलवन्त सिंह समस्त व्यायाम शिक्षक, खेल अनुदेशक व अन्य मौजूद रहे।

About the author

राजेंद्र सिंह

राजेंद्र सिंह (सम्पादक)

%d bloggers like this: