अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय

आखिर नेपाल ने क्यों की भारतीय मुद्रा की नोटबन्दी, भारतीय व्यापारियों के लिए खड़ी हुई बड़ी समस्या

नेपाल : नेपाल की सरकार ने भारतीय मुद्रा के बड़े नोटों पर पाबंदी लगा दी | यानि की सौ से ऊपर के नोटों पर पाबंदी लगायी गयी है | नेपाल में 200, 500,2000 के नोटों पर पाबंदी लगा दी गयी है | लेकिन छोटे नोट समान्यतय जैसे चलते आ रहे है वैसे ही चलेंगे |
हाल ही में नेपाल के मंत्रियों की एक बैठक हुई थी और इसी बैठक में यह फ़ैसला लेकर एक नोटिस जारी किया गया कि 200, 500 और 2,000 के भारतीय नोट अब से नेपाल में अवैध होंगे| नोटिस जारी करने से पहले भारत की सभी भारतीय मुद्रा नेपाल में चल रही थी | लेकिन अब से 100 से नीचे के ही नोट चलेंगे |
सवाल उठता है कि नेपाल सरकार ने भारत के बड़े नोटों को क्यों अपने देश में अवैध मान रहा है | नेपाल की तरफ से जो आधिकारिक नोटिस जारी किया गया है उसमें भारतीय नोटों कि पाबन्दी की कोई साफ-साफ कारण नहीं बताये है | लेकिन ये भी माना जा रहा है इस फैसले का असर लोगों पर पड़ेगा | नेपाल भारत के सीमाँ के इलाकों में खासतौर से इसका असर पड़ेगा | भारतीय व्यापारियों को समस्या होगी | दोनों देशों के उन कामगारों को दिक्कत होगी जो एक दूसरे के देश में काम या व्यापार करते है |
नेपाल ने वैसे तो कोई स्पष्ट वजह नहीं बतायी लेकिन ऐसा माना जा रहा है | जब भारत ने जब नोटबंदी की तो नेपाल में भी करोड़ों के 500 और 1000 के पुराने भारतीय नोट थे | लेकिन अभी तक उन पुराने नोटों के लिए भारतीय सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया है | इतनी बड़े नुकसान को झेलने के बाद नेपाल की सरकार रिस्क नहीं चाहती नेपाल के लिए भारत सरकार ने अब तक इन पुराने नोटों का कोई समाधान नहीं निकला है | नोटबंदी के कारण नेपाल और भूटान को भी काफी नुकशान हुआ था |जाहिर है भारत के नोटबंदी के फैसले से नेपाल को नुकसान हुआ है लेकिन अब देखना यह है की नेपाल सरकार के इस फैसला से भारत को कितना फर्क पड़ेगा |