अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन

भारत-चीन फिल्म महोत्सव’ का शुभारंभ 22 से, दिखाई जायेगी ‘दंगल’

तीन दिवसीय ‘भारत-चीन फिल्म महोत्सव’ का शुभारंभ 22 दिसंबर को

बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त हिट फिल्म ‘दंगल’ भी फिल्म महोत्सव के दौरान दिखाई जाएगी

​​​​​​​चीन की चार फिल्में और भारत की तीन फिल्में इस दौरान दिखाई जाएंगी

भारत और चीन की आम जनता के बीच पारस्परिक संपर्क बढ़ाने के साथ-साथ दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक संबंधों को और प्रगाढ़ करने के लिए सांस्कृतिक एवं जन आदान-प्रदान की प्रथम भारत-चीन उच्चस्तरीय व्यवस्था के दौरान भारत-चीन फिल्म महोत्सव भी आयोजित किया जाएगा। इसका आयोजन 22 से 24 दिसंबर, 2018 तक किया जाएगा। तीन दिवसीय महोत्सव भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के फिल्म महोत्सव निदेशालय द्वारा नई दिल्ली स्थित सिरी फोर्ट सभागार-II में आयोजित किया जाएगा।

फिल्म महोत्सव के दौरान कुल मिलाकर 7 फिल्में दिखाई जायेंगी जिनमें से चार फिल्में चीन और तीन फिल्में भारत की होंगी। फिल्म महोत्सव के शुभारंभ पर ‘सीजेड12’ फिल्म दिखाई जाएगी, जो ‘चाइनीज जोडिएक’ के नाम से भी जानी जाती है। फिल्म महोत्सव के दौरान जो भारतीय फिल्में दिखाई जायेंगी उनमें ‘दंगल (हिन्दी)’, ‘माछेर झोल (बांग्ला)’ और ‘वेंटिलेटर (मराठी)’ शामिल हैं। महोत्सव के दौरान निम्नलिखित कार्यक्रम के अनुसार फिल्में दिखाई जाएंगी :

दिनांक/समय प्रातः 10:30 बजे दोपहर 1:30 बजे शाम 5:00 बजे
22.12.18

(शनिवार)

सीजेड12 यानी चाइनीज जोडिएक

 

निर्देशक जैकी चैन

 

109 मिनट

मंडारिन –

फ्रेंच –

अंग्रेजी/2012

 

दंगल

 

 

 

निर्देशक नितेश तिवारी

 

161 मिनट हिन्दी/2016

 

ब्रदरहुड ऑफ ब्लेड्स

 

 

 

निर्देशक यांग लू

 

 

111 मिनट

मंडारिन/ मंगोलियाई/2014

 

23.12.18

(रविवार)

  माछेर झोल

 

 

निर्देशक प्रतीम डी. गुप्ता

 

108 मिनट बांग्ला/2017

 

लॉस्ट इन थाईलैंड

 

 

निर्देशक झेंग जू

 

 

105 मिनट

मंडारिन/ अंग्रेजी/ थाई/2012

 

24.12.18

(सोमवार)

  वुल्फ टोटेम

 

निर्देशक जीन-जैक्वेस अनोद

 

121 मिनट

मंडारिन/ मंगोलियाई/2015

 

वेंटिलेटर

 

निर्देशक राजेश मपुस्कर

 

143 मिनट मराठी/2016

 

 

सभी फिल्मों में अंग्रेजी उपशीर्षक होंगे।

महोत्सव में प्रवेश को निःशुल्क रखा गया है। कोई भी व्यक्ति सिर्फ अपनी एक वैध फोटो आईडी दिखाकर सभागार में प्रवेश कर सकता है। सभागार में ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के आधार पर दर्शकों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी। फिल्म महोत्सव के लिए लोग सिरी फोर्ट सभागार की गेट संख्या 5 के जरिये प्रवेश कर सकेंगे।