अपराध उत्तर प्रदेश गोंडा

मीडिया को भी गुमराह करने से बाज नहीं आ रही गोंडा पोलिस, मुक़दमे की जानकारी न दे बताया गैर जनपद का नम्बर

Written by Ashfaq shah

गोण्डा। जनपद के थाना कटरा बाजार के बनगांव में दो सगे पटटीदारों के बीच जमीनी विवाद में हुयी मारपीट मे ंएक ही पक्ष के तीन लोग घायल हो गये जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। घायलों में जहां एक ओर दो की हालत गम्भीर बनी हुयी है वहीं पुलिस का रवैया इस मामले में पूरी तरह संदिग्ध दिख रहा है क्योंकि मामले की जानकारी पर एसओ ने अपने आपको बाहर होना बताते हुए एक ऐसे नम्बर पर सम्पर्क करने को कहा जो जनपद में ही नहीं है।

शुक्रवार को थाना कटरा बजार के बनगावं में दो सगे पटटीदारों के बीच आबादी की जमीन को लेकर जमकर मारपीट हुयी जिससे एक ही घर के तीन व्यक्ति रमजान अली पुत्र इलाही, इलाही पुत्र रसूल, बौरे पुत्र रसूल गम्भीर रूप् से घायल हो गये, मामले में पुलिस ने मात्र दो लोगों का ही चिकित्सीय परीक्षण कराया जबकि तीसरा घायल इलाही पुत्र रसूल को चोट होने बाद भी पुलिस ने मेडिकल परीक्षण कराना उचित नहीं समझा। डाक्टरो ने रमजान अली व बौरे की स्थिति को देखते हुए उन्हें भर्ती कर लिया,

घायल इलाही के अनुसार गांव में सडक किनारे उनके पिता के नाम से लगभग डेढ बीघा जमीन है जिसके आगे लगभग आठ हाथ जमीन ग्राम समाज की पडी हुयी थी उसके सगे पटटीदारों ने उसके जमीन के सामने मडहा भुसैला चन्नी बनाकर सामने के पूरे हिस्से को कब्जा कर लिया जबकि उस भूमि पर पटटीदारों को कोई भी अंश नहीं है। आज जब वह लोग उस जमीन पर नीवं की भराई करने लगे तो विरोध करने पर लाठी व डंडे से हमलावरो ंने हमला कर दिया जिससे उसका बेटा रमजान व भाई बौरे गम्भीर रूप् से घायल हो गये।

घायलों की माने तो जिस जमीन पर उनके पटटीदारो ने चन्नी भुसैला बनाकर कब्जा जमा रखा है वह उन लोगों की पैतृक जमीन है और उसके सामने का हिस्सा ग्राम समाज का है चूमि कब्जा जमाये लोगों का कोई अंश वहा नही है फिर भी सडक का किनारा होने के कारण पटटीदारों को वह कीमती दिखाई दे रही है इसीलिए उन लोगो ंने पहले यह कहकर वहां पर जानवर बांधने आरम्भ किय कि ज बवह वहां घर मकान बनवायेगें तब वह जानवरो ंका हटा लेगे। किन्तु धीरे धीरे उन लोगो ंने वहां पर मडहा रख दिया, चारा मशीन लगा दी और चन्नी भुसैला बना जानवरों को वहीं बांधकर कब्जा कर लिया। ज बवह लोग अपना मकान बनवाने के लिए नीवं की खुदाई करने लगे तो पटटीदारो ंने पहले तो गांव की पंचायत बुलवाई और यह कहकर जमीन पर अपना हक जताया कि जमीन ग्राम समाज की है जो कि खतौनी का अंश नहीं है और वे वर्षो से वहां पर काबिज हैं। इस मामलें मे कुछ जमीन के छोडकर रास्ता दिये जाने की बात भी हो चुकी है परनतु विपक्षियों ने सुलह समझौता करने से मना कर दिया।

जब जमीन को लेकर खूनी संर्घर्ष सुबह आरम्भ हो गया तो पुलिस की भूमिका भी इसमें सदिंग्ध दिखाई पडी, स्थिति को देखने पर यह प्रकरण पूरी तरह स्पष्ट हो जाता है कि विपक्षी जबरन अपने पटटीदार की जमीन के सामने कब्जा जमाये बैठे है उनका इस हिस्से पर कोई अंश भी नहीं है इन सब के बाद भी पुलिस इसे घूर लगाने का एक मामूली विवाद मान रही है जिससे दूसरे पक्ष का मनोबल बढ गया है। शुक्रवार के प्रकरण को बताते हुए एसओ कटरा दददन सिंह ने बताया कि घूर लगाने की बात को लेकर दोनो ंपटटीदारों को झगडा हुआ है जिसका मुकदमा दर्ज कर लिया गया है किन्तु मुकदमा अपराध संख्या और धारा की जानकारी मांगने पर वह बोले ि कवह परसपुर चले आये है जिससे वह पूरी जानकारी नहीं दे सकते।

थाने से जानकारी करने के लिए जब उनसे अन्य किसी नम्बर की मांग की गयी तो उन्होनें 9454800666 पर बात कर पूरी जानकारी करने को कहा जो कि थाना कटरा की तो छोडिये जनपद का ही नहीं निकला, उपरोक्त नम्बर पर बात करने पर पता चला कि वह नम्बर जनपद फैजाबाद का है और वह व्यक्ति किसी भी रूप् से पुलिस विभाग से सम्पर्क ही नहीं रंखता। उनके द्वारा अपनायी गयी यह प्रक्रिया इस पूरे मामले को सदिंग्ध बना रही है जबकि दूसरी ओर जबरन कब्जा जमाये बैठे पटटीदारो ने अपने सगे पटटीदारों पर हमला तो लाठियों से ही किया है किन्तु उनके मारपीट की शैली यह बताती हे कि यदि गावं के लोग वहां नहीं पहुच जाते तो उनका इरादा इन सभी को जान से मारने का था।