उत्तर प्रदेश गोंडा लाइफस्टाइल

किसानों की समस्याओं पर गंभीर दिखे जिलाधिकारी, गन्ना अधिकारी को दिए निर्देश

गन्ना किसानों की समस्याओं को तत्काल निस्तारित करें गन्ना अधिकारी, डीएम ने दिए निर्देश

डीएम की बैठक से बिना सूचना अनुपस्थित एक्सईएन लघु सिंचाई से स्पष्टीकरण तलब

गोंडा ! विकास कार्यों की साप्ताहिक समीक्षा में बुधवार को डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव ने कृषि, गन्ना व सिंचाई विभाग की समीक्षा की।  गन्ना किसानों की पर्ची सबन्धी व घटतौली की शिकायतों पर डीएम ने जिला गन्ना अधिकारी से जांच रिपोर्ट देने तथा किसानों की पर्ची सम्बन्धी समस्या का समाधान अतिशीघ्र कराने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार किसानों की समस्याओं के प्रति बेहद संवदेनशील है। गन्ना किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार निस्तारित किया जाय जिससे किसान गन्ना बेचने के लिए परेशान न हों। नलकूप विभाग की समीक्षा में ज्ञात हुआ कि जिले में 45 ट्यूबबेल विद्युत खराबी के कारण बन्द पड़े हुए हैं।
डीएम ने एक्सईएन विद्युत को एक सप्ताह के अन्दर सभी ट्यूबबेलों को चालू कराकर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। नहर विभाग द्वारा नहरों के लिए जमीन क्रय का कार्य तेजी कराए जाने के निर्देश दिए। उद्योग विभाग की समीक्षा में डीएम ने उपायुक्त उद्योग को स्पष्ट निर्देश दिए कि उद्योग लगाने के लिए आवेदन करने वाले आवेदकों का साक्षात्कार लकर उन्हें बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध करा दें जिससे सरकार की मंशानुसार लोग रोजगार पा सकें। उपनिदेशक कृषि व एआर कोआपरेटिव को निर्देश दिए कि वे जिले में उर्वरकों व बीज की उपलब्धता हर हाल में पर्याप्त रखें जिससे किसानों को खाद के लिए परेशान न होना पड़े। वहीं बैठक से बिना सूचना अनुपस्थित एक्सईएन लघु सिंचाई से स्प्ष्टीकरण तलब किया गया है।
बैठक में उपनिदेशक मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, जिला उपायुक्त उद्योग अश्वनि कुमार, जिला भूमि संरक्षण अधिकारी, ज्येष्ठ गन्ना निरीक्षक, एआर कोआपरेटिव व अन्य उपस्थित रहे।