उत्तर प्रदेश गोंडा स्वास्थ्य

अब गंभीर बीमार बच्चो को मिलेगी तत्काल चिकित्सा, “ट्रियाज” की अनोखी पहल

Written by Ashfaq shah

प्रभारी सी एम् इस डॉ वी सी गुप्त ने किया शुभारम्भ, नर्सो को किया गया प्रशिक्षित

गोण्डा। जिला चिकित्सालय में आने वाले अत्यंत गम्भीर बीमार बच्चों को आकस्मिक सेवा एवं उपचार उपलब्ध कराने के लिए जिला चिकित्सालय प्रशासन एक नया अभिनव पहल ‘‘ट्रियाज’’ की शुरूआत कर रहा है। इसकी शुरूआत नववर्ष के दूसरे दिन बुधवार को प्रभारी सीएमएस एवं डिस्ट्कि्ट नर्स एजूकेटर ने चिकित्सालय की नर्स को प्रशिक्षित कर किया। इसका एक अलग काउन्टर चिकित्सालय के अन्दर पूर्व प्रतीक्षालय में बनाया गया है। इस काउन्टर से आपातकालीन चिकित्सा के लिए बच्चों को त्वरित चिकित्सीय इलाज उपलब्ध कराया जायेगा।

बुधवार को जिला चिकित्सालय के पूर्व प्रतीक्षालय स्थिल हाल मे ंएक नये काउन्टर “ट्रियाज” का शुभारम्भ किया गया। यह सुविधा एक गैर सरकारी संगठन उत्तर प्रदेश तकनीकी सहायता ईकाई ‘‘यूपीटीएसयूआई’’ उपलब्ध करायेगी जिसका कार्य है चिकित्सालय स्थित नर्सो को प्रशिक्षित कर इस काउण्टर पर कार्य के लिए उपयोगी बनाना। काउण्टर का शुभारम्भ करते हुए जिला चिकित्सालय के प्रभारी सीएमएस वरिष्ठ बाल रोग विशेशज्ञ डा0 वी सी गुप्त ने कहा कि यह काउण्टर गम्भीर रूप से बीमार जीरो से पाचं वर्ष के बच्चों को उनके स्थिति के अनुसार सूचीबद्व कर अत्यंत गम्भीर बच्चों को तत्काल चिकित्सीय सहायता उपलब्ध करायेगा।

यह सुविधा जिला चिकित्सालय से प्रारम्भिक स्तर पर शुरू की जा रही है बाद में जनपद के समस्त सीएचसी ओर पीएचसी पर भी इसकी शुरूआत की जायेगी। इस काउण्टर पर यूपीटीएसयूआई के द्वारा प्रशिक्षित की गयी जिला चिकित्सालय में तैनात नर्सो को रोस्टर के अनुसार तैनाती दी जायेगी। इस संस्था के जिला नर्स एजुकेटर आशुतोष द्विवेदी ने विस्तार से बताया कि काउण्टर से बच्चों को वजन उनकी लम्बाई एवं उनके शरीर का माप करने के प्श्चात उनकी सही स्थिति की माप की जायेगी, यदि मानक के अनुरूप बच्चा बेहद गम्भीर स्थिति में है तो उसे काउण्टर के कर्मचारियों द्वारा ही तत्काल चिकित्सीय सहायता उपलब्ध कराया जायेगा। इस काउण्टर के द्वारा उन बच्चां की जान भी बचाई जा सकेगी जो भीड में लाइनों में फंसे रह जाते है और बेहद गम्भीर स्थितियों मे ंहोने के बाद भी डाक्टर तक न पहुच पाने के कारण चिकित्सीय अभाव म ेंदम तोड देते हैं। यह सुविधा प्रतिदिन उपलब्ध रहेगी। इस सुविधा के सफल संचालन के लिए स्टाफ की तैनाती, चिकित्सीय उपकरण एवं संसाधनों की सम्पूर्ण जिम्मेदारी मैर्टन दिनेश शुक्ल को सौपी गयी है। कार्यक्रम के दौरान चिकित्सक दीपक कुमार, डा0 आरएस गुप्त, आशुतोष द्विवेदी मौजूद रहे।