अपराध उत्तर प्रदेश गोंडा

पूर्ति निरीक्षक बलरामपुर सदर का काम नही करनामाँ बोलता है, जीवित को कर देता है मृत घोषित

Written by Pankaj Dixit

बलरामपुर । आपूर्ति विभाग द्वारा किये जा रहे गड़बड़ झालों में एक मामला उस समय और जुड़ गया जिसमें की गई शिकायत को बिना किसी जांच के निस्तारित कर दिया गया, इतना ही नही विभाग ने शिकायत कर्ता के जीवित पिता को मृत भी घोषित कर दिया !

मामला जनपद बलरामपुर के टेढ़ी बाजार का है जहाँ के निवासी यज्ञ मणि त्रिपाठी ने जिला पूर्ति कार्यालय बलरामपुर की शिकायत जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज करायी थी जिसमे पूर्ति निरीक्षक द्वारा बिना किसी जांच पड़ताल के फर्जी तरीके से मामलें का निस्तारण कर दिया , इतना ही नही पूर्ति निरीक्षक ने मामले के फर्जी निस्तारण मे शिकायकर्ता के पिता को फर्जी तरीके से मृत भी घोषित कर दिया जबकि शिकायतकर्ता के पिता अभी जिंदा है । शिकायकर्ता की यदि माने तो उक्त निरीक्षक द्वारा बिना किसी जांच पड़ताल के फर्जी तरीके से मामलें का निस्तारण कर दिया है , शिकायकर्ता का आरोप है की उनकी माता ज़ी के नाम से अरसों से गरीबी रेखा के ऊपर जीवन यापन करने की श्रेणी का ए.पी.एल.कार्ड बना था जिसको बिना किसी सूचना के काट दिया गया है ।