Uncategorized राष्ट्रीय लाइफस्टाइल

जातिगत आरक्षण पर मुखर हुई क्षत्रिय कल्याण परिषद

दिल्ली ! SC/ST एक्ट संशोधन को खत्म करने, प्रमोशन में आरक्षण व्यवस्था को समाप्त करने तथा वर्तमान जातिगत आरक्षण को खत्म करके गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले जातियों/ धर्मो के लोगों को आरक्षण का लाभ दिलाने के लिये अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद के एक प्रतिनिधि मण्डल ने दिल्ली पहुँचकर देश की राजनीतिक दलों को आगाह करते हुए एक ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगों को 2019 के आगामी लोकसभा चुनाव में अपने एजेंडे में शामिल करने का आग्रह किया।

सगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व डीजीपी यशपाल सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवधेश सिंह, राष्ट्रीय महासचिव रमेश सिंह व प्रदेश महासचिव सुभाष सिंह के संयुक्त हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रशासनिक महासचिव मोतीलाल बोरा, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरूण सिंह, समाजवादी जनता दल के संरक्षक शरद यादव, जनतादल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव आफाक अहमद खान, पूर्व प्रधानमंत्री स्व चन्द्रशेखर वाली पार्टी सजपा के राष्ट्रीय महासचिव श्यामजी त्रिपाठी सहित आम आदमी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल सहित अन्य पार्टियों को उक्त ज्ञापन दिया गया।

बिदित हो कि SC/ST एक्ट संशोधन , प्रमोशन में आरक्षण व जातिगत आरक्षण को समाप्त करने को लेकर परिषद लंबे अरसे से संघर्षरत है, पूरे देश मे इसके विरुद्ध धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया गया और विगत सितम्बर में लखनऊ हजरतगंज स्थित वीर बहादुर सिंह पार्क में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवधेश सिंह के नेतृत्व में 27 दिन अनवरत धरना चला जिसे सभी राजपूत सगठन, ब्राह्मण सगठन, कायस्थ सगठन, व्यापारी सगठन सहित अन्य कई सगठनों का पूर्ण समर्थन मिला। सगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बीजेपी के पूर्व विधयक गंगा सिंह चौहान का हरदोई जनपद में एक सप्ताह धरना चला,और उसके बाद उन्होंने अपनी उम्र व बीमारी की परवाह न करते हुये पांच दिनों तक आमरण अनशन पर रहकर प्रशासन को सकते में ला दिया। कल्याण परिषद ने प्रदेश में अपनी मांगों को लेकर प्रदेश में जन जागरण चेतना यात्रा निकाल कर विरोध दर्ज कराया।

श्री सिंह ने यह भी जानकारी दी कि सपा व बसपा के राष्ट्रीय अध्यक्षों से समय मांगा गया है समय मिलने पर उन्हें या उनके द्वारा नामित पदाधिकारियों को सीघ्र ही ज्ञापन दिया जाएगा।