उत्तर प्रदेश गोंडा राजनीति

बिगड़ने लगे सभ्य नेताओं के भी बोल, भाजपा की छवि के लिये हो सकता है घातक

गोण्डा ! जैसे – जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे वैसे  इन नेताओं की बयानबाजीया तेज होती जा रही है और तेज हो रही बयानबाजियों में नेताओं के जो बोल है आज जमकर बिगड़ रहे है …. एक से एक विवादित बयान  आए दिन सामने आ रहे हैं।

नेताओं के विवादित बयानों में एक नया नाम आज जुड़ा है योगी सरकार के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री का जिन्होंने एक चुनावी जनसभा के दौरान  विपक्षियों पर विवादित बयान दिया है। अपनी चुनावी रैली को संबोधित करते हुए यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रामपति शस्त्री ने जनता से विवादित नारा लगवाए …. भाषण देते हुए कैबिनेट मंत्री के बोल बिगड़ गए। मंत्री रामपति शस्त्री ने जनता से लगवाए विरोधियों को स्वाहा करने का नारे और खुद भी अशोभनीय नारा लगाया। मंत्री ने मंच से सपा, बसपा और कांग्रेस को स्वाहा करने का आवाहन किया …. यूपी सरकार में समाज कल्याण मंत्री रमापति शस्त्री कहा कि सपाय स्वाहा, बसपा स्वाहा, कांग्रेसाए स्वाहा, सभी विरोधाय स्वाहा”। जब मंत्री रमापति शस्त्री से मीडिया ने प्रश्न किया कि वो जनता से विपक्षियों से स्वाहा कहलाकर क्या कहना चाहते है तो मंत्री ने अपने जबाब में कहा कि जनता जानती है स्वाहा करने का सबको …. जितनी पार्टी भाजपा के विरोध में है सबको !

अपने आप मे सभ्य और एक सभ्य सुसंस्कृत पार्टी के कार्यकर्ता के बोलो का इस तरह बिगड़ना यह दर्शाता है कि भाजपा और उसके नेता भी अन्य पार्टियों की तर्ज पर चलना चाह रहे है जो कि आने वाले समय मे और पार्टियों की छवि की तरह ही जनता में एक गंदी पार्टी के रूप में स्थापित हो जाएगी जो भारतीय राजनीति के लिए एक अभिशाप से कम नही होगी यदि भाजपा नेतृत्व ने जल्द ही ऐसे नेताओँ पर प्रभावी अंकुश नही लगाया तो !