अपराध उत्तर प्रदेश गोंडा राजनीति

300 वोटरों के चुनाव बहिष्कार का मँडराया खतरा

शिकायत पर गंभीर नही दिखे उपजिलाधिकारी

परसपुर (गोंडा) ! जनपद के विकास खण्ड परसपुर अन्तर्गत ग्राम पंचायत पसका के सैकड़ों ग्रामीणो ने लेखपाल और कानूनगो पर गंभीर आरोप लगाते हुए चुनाव बहिष्कार करने का निर्णय लिया है ! महत्वपूर्ण तो यह है कि कर्मचारियों के लापरवाह और निंदनीय कृत्य की शिकायत को एस डी एम ने भी कोई तवज्जो नही दी !

आक्रोशित ग्रामीणों का नेतृत्व कर रहे गजेन्द्र सिंह ने क्षेत्र के लेखपाल और कानून गो पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि साजिश के तहत सैकड़ो लोगो को मतदान से वंचित रखने का प्रयास किया जा रहा है, जिसके लिए मतदान स्थल को पूर्व के स्थान से लगभग 7 किमी दूर कर दिया गया है, कर्मियों के इस गैर जिम्मेदाराना रैवये से सैकड़ों मतदाता मतदान से वंचित हो जाएंगे !

उन्होनें बताया कि जब इसकी शिकायत क्षेत्र के उपजिलाधिकारी से की गई तो उन्होंने भी शिकायत को हल्के में ही लिया जिस पर विवश होकर ग्रामीणों को मतदान के बहिष्कार का निर्णय लेना पड़ रहा है !

उन्होंने उपजिलाधिकारी पर भी आरोप मढ़ते हुए बताया कि इस कि लिखित शिकायत करने पर भी उपजिलाधिकारी में मामले को हल्के में ही लिया !

अब देखना यह है कि जहां एक ओर चुनाव आयोग शतप्रतिशत मतदान को लेकर अभियान छेड़ रहा है वही उसी के कर्मचारी जनता को मतदान के संवैधानिक अधिकार से वंचित करने का ही कुचक्र रच रहे है, ऐसे अधिकारियों कर्मचारियों पर आयोग कोई सख्त कदम उठा एक सकारात्मक संदेश देता है या फिर मूकदर्शक बन मतदान बहिष्कार होते हुए देखता रहता है !