उत्तर प्रदेश गोंडा राजनीति

मोदी की पत्नी को लेकर कांग्रेस ने किया एक बार फिर हमला

कहा महिलाओं के सम्मान की बात करने वाले ने छोड़ रखा है खुद अपनी पत्नी को 

गोण्डा ! मोदी द्वारा कहने पर की मसूद अजहर पर हुई कार्यवाही से कांग्रेसी परेशान है का जवाब देते हुए हार्दिक पटेल ने कहा कि जब बालाकोट में हमला हुआ और आतंकी मारे गए तो कुछ भाजपाइयों और कुछ मीडिया ने भी कहा था कि इसमें मसूद अजहर भी मारा गया है फिर पता नहीं कैसे जिंदा हो गया और पता नहीं कैसे अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी जाहिर भी हो गया …. हालांकि कार्यवाही का समर्थन करते हुए हार्दिक ने यह भी कहा की अच्छी बात है वह राष्ट्रीय आतंक आतंकवादी घोषित हुआ …. उसे मार देना चाहिए, यही बीजेपी थी कि जब कांग्रेस ने मसूद अजहर को पकड़ा था …. यही भाजपा थी जो उसको छोड़ने गई थी, हम तो चाहते हैं कि उसको फांसी की सजा मिले – इसको मार दिया जाए और हिंदुस्तान में कभी आतंकवाद आए ही नहीं। हार्दिक पटेल ने गढ़चिरौली में हुए नक्सली हमले का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा अगर 5 साल में इतने ईमानदार और राष्ट्रवादी पार्टी थी तो महाराष्ट्र में हुए हमले में जो हमारे जवान शहीद हुए उसके बारे में 1 मिनट की भी श्रद्धांजलि क्यों नहीं दी गई। कांग्रेसी अपना दल गठबंधन के तहत गोंडा लोकसभा के प्रत्याशी कृष्णा पटेल के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित करने गोण्डा पहुंचे हार्दिक पटेल के साथ कांग्रेश अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष नसीम जावेद ने मंच से ही चौकीदार चोर है के जमकर नारे लगवाए और जनसभा में मौजूद जनता ने भी दोबारा बिना नसीम जावेद के कहे चौकीदार चोर है के खूब नारे लगाए।
         योगी आदित्यनाथ पर हमलावर होते हुए गोण्डा के जिगर इंटर कॉलेज पंहुचे हार्दिक पटेल ने कहा कि शायद आप क्या भूल गए कि सबसे बड़ा दुख का कारण उत्तर प्रदेश में आज योगी आदित्यनाथ है और हमारे गुजरात में एक कहावत है किस सन्यासी का मतलब भगवान की पूजा होती है सन्यासी का मतलब मोदी की पूजा नहीं होती। राजस्थान की चुनावी जनसभा में मोदी द्वारा बयान देने पर की अगले 5 सालों में हर घर – हर खेत पानी पहुंचाने के लिए अलग से मंत्रालय की व्यवस्था करेंगे का जवाब देते हुए हार्दिक पटेल ने पीएम मोदी पर तंज कसा और कहा कि अभी 5 साल तक क्या मंजीरा बजा रहे थे …. मंजीरा – डमरु …. 5 साल क्या किया कितना पानी पहुंचाया उसका जवाब दे न। कहावत के तहत बीजेपी पर जुबानी हमला बोलते हुए हार्दिक ने कहा कि हमारे यहां एक कहावत है की 1984 में भी बीजेपी दो पर थी आज भी दो पर ही है 1984 में जब भाजपा में गुजरात में दो ही सीट आई थी और आज इनके पास सरकार है लेकिन दो ही आदमी हैं मोदी और अमित शाह। मंच से बोलते हुए नसीम जावेद ने जहां पहले चौकीदार चोर है के नारे लगाए तो वही मॉब लिंचिंग का नाम लेते हुए कहा कि कमजोरों और मजदूरों पर हमला करने का काम सबका साथ सबका विकास वालों ने किया। इतना ही नहीं नसीम जावेद ने यहां तक कह डाला कि जो लोग महिलाओं के सम्मान की बात करते हैं वह खुद अपनी पत्नी को छोड़कर रहते हैं और उनकी पत्नी आरटीआई के तहत अपना अधिकार मांगती है।