अपराध उत्तर प्रदेश गोंडा लाइफस्टाइल

औचक निरीक्षण में गैरहाजिर मिले 71 अधिकारी व कर्मचारी, कटा एक दिन का वेतन

स्पष्टीकरण तलब, अगले निरीक्षण में गायब मिले तो होगा निलम्बन-सीडीओ

गोण्डा ! मुख्य विकास अधिकारी आशीष कुमार द्वारा मंगलवार को विकास भवन सहित अन्य सरकारी दफ्तरों का औचक निरीक्षण किया गया तो विभिन्न कार्यालयों के 71 कर्मचारी अनुपस्थित मिले। सीडीओ ने तत्काल प्रभाव से अनुपस्थित सभी कर्मियों का एक दिन का वेतन काटने के आदेश जारी कर स्पष्टीकरण तलब किया है और कठोर कार्यवाही की चेतावनी दी है।
बतातें चलें कि लोकसभा चुनाव सम्पन्न होने के बाद सरकारी कार्यालयों में अधिकारियों कर्मचारियों के समय से न आने की शिकायतें डीएम व सीडीओ को मिल रहीं थी जिसका संज्ञान लेते हुए डीएम डा0 नितिन बंसल के निर्देश पर सीडीओ आशाीष कुमार ने मंगलवार को स्वयं कई अधिकारियों से दफ्तरों का औचक निरीक्षण कराया तो एक्सईएन सरयू नहर खण्ड प्रथम कार्यालय के वरिष्ठ सहायक दिनेश शुक्ला, कनिष्ठ सहायक राजकुमार जायसवाल, प्रारूपकार कंचनलता, सींच पर्यवेक्षक बाबूराम शुक्ला, धावक दिलावर हुुसैन, धावक राजेश कुमार यादव, मेट अमित कुमार मौर्य, एक्सईएन लघु सिंचाई कार्यालय के वैयक्तितक सहायक विजय कुमार श्रीवास्तव, वरिष्ठ सहायक परमात्मा राम, कनष्ठि सहायक वंशीधर वर्मा, चपरासी शिव कुमार, चपरासी रमेश कुमार यादव, एक्सईएन सरयू ड्रेनेज खण्ड-1 कार्यालय के वरिष्ठ सहायक ब्रम्हादीन, वरिष्ठ सहायक साधना सक्सेना, वरिष्ठ सहायक राम जनम, वरिष्ठ सहायक नीरजा, प्रारूपकार मिथलेश कुमार वर्मा, कनष्ठि सहायक रीतेश कुमार, कनष्ठि सहायक प्रवीन कुमार मिश्र, कनष्ठि सहायक हरेन्द्र नाथ कुंवर, कनिष्ठ सहायक रणधीन सिंह, कनिष्ठ सहायक शिवकरन, चपरासी चन्द्रभान, चैकीदार अजय कुमार, धावक मोहम्मद मकसूद अली, बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के स्वयं बीएसए मनीराम सिंह, वरिष्ठ सहायक अजय प्रताप सिंह, वरिष्ठ सहायक प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, कनिष्ठ सहायक सुधीर कुमार सिंह, कनिष्ठ सहायक आलोक कुमार सिंह, कनिष्ठ सहायक हनुमान प्रसाद गुप्ता, कनिष्ठ सहायक जन्मेजय सिंह, अनुचर रामबरन मौर्य, जिला कृषि अधिकारी कार्यालय के स्वयं जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, वरिष्ठ सहायक बृजेश कुमार श्रीवास्तव, वरिष्ठ सहायक विष्णु प्रसाद, चालक राम भवन, डीआईओएस आफिस के वरिष्ठ सहायक अतुल कुमार सिंह, वरिष्ठ सहायक अजय कुमार रावत, लेखाकार इन्द्रसेन सिंह, एक्सईएन जल निगम कार्यालय के लेखाकार रामचन्द्र रावत लिपिक, लिपिक प्रियंका मिश्रा, लिपिक मनीषा मिश्रा, वाहन चालक राम दयाल शर्मा, चपरासी राम करन सिंह, बेलदार जसवन्त सिंह, वर्क एजेन्ट राम नरायन, सहकारिता विभाग से सहायक विकास अधिकारी राज कुमार विश्वकर्मा, सहायक विकास अधिकारी ओम प्रकाश माौर्य, वरिष्ठ सहायक दिनेश कुमार, कम्प्यूटर आपरेटर नवीन सिंह, ग्रामीण अभियन्त्रण विभाग से कनिष्ठ  लिपिक आनन्द कुमार गुप्ता, पत्रवाहक रतीपाल, सर्व शिक्षा अभियान कार्यालय विकास भवन से रजनी श्रीवास्तव समन्वयक कस्तूरबा गांधी विद्यालय, जिला समन्वयक विद्या भूषण मिश्र, शफाउत उल्लाह कम्प्यूटर आपरेटर जगदीश शरण गुप्ता एमआईएस इन्चार्ज,  वाहन चालक हरिशंकर दूब, विमल कुमार तिवारी अनुचर, नन्द कुमार अनुचर, जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय से वरिष्ठ सहायक हरिओम यादव जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय से राजीव असथाना प्रधान सहायक, प्रबोध शेखर श्रीवास्तव प्रधान सहायक, सीमा जायसवाल कनिष्ठ लिपिक अर्थ एवं सख्या अधिकारी कार्यालय से जगदीश प्रसाद वर्मा अपर सांख्यकीय अधिकारी, सतीश चन्द्र अपर सांख्यिकीय अधिकारी तथा वरिष्ठ सहायक राजेश चैहान सहित कुल 71 अधिककारी कर्मचारी सुबह सवा दस बजे अपने-अपने कार्यालयों एवं पटलों से गैर हाजिर मिले।
मुख्य विकास अधिकारी ने अधिकारियों कर्मचारियों को स्पष्ट चेतावनी दी है कि निर्वाचन कार्य समाप्त हो गया है। सभी अधिकारी कर्मचारी अपने-अपने दफ्तरों में समय से बैठें और जनता की समस्याओं का निस्तारण व विकास कार्यों को गति देने का काम करें।
उन्होने कहा कि पहले दिन के निरीक्षण में नदारद मिले अधिकारियों कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने के साथ स्पष्टीकरण तलब करने की कार्यवाही की गई है परन्तु अगले निरीक्षण में अनुपस्थित मिलने पर सीधे निलम्बन के साथ साथ विभागीय कार्यवाही भी की जाएगी, इसलिए सभी विभागाध्यक्ष व कर्मचारी अपने कार्यालयों में समय सेे बैठें। औचक निरीक्षण करने वाले अधिकारियों में सीडीओ के अलावा पीडी, समाज कल्याण अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, डीसी एनआरएलएम, एक्सईएन आरईएस, भूमि संरक्षण अधिकारी, पीओ डूडा, सहायक अभियन्ता जिला ग्राम्य विकास विभाग व सहायक सांख्यिकी अधिकारी रहे।