कैरियर/जॉब

UPPCS Mains Result 2016: पीसीएस मेन्स के नतीजे uppsc.up.nic.in पर घोषित, पढ़ें 7 खास बातें

UPPCS Mains Result 2016: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पांच साल की भर्तियों की सीबीआई जांच शुरू होने के बाद पीसीएस मेन्स का यह पहला परिणाम है। हालांकि इस भर्ती की प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा भी उसी दौरान हुई हैं, जिस समय अवधि की भर्तियों की सीबीआई जांच चल रही है। प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम भी जांच अवधि के दौरान ही घोषित किया गया था। यही वजह है कि आयोग के अफसरों ने परिणाम जारी करने में पूरी सावधानी बरती।

खास तौर से मुख्य परीक्षा के अनिवार्य विषय हिन्दी और निबंध की कॉपियों के मॉडरेशन में काफी सहूलियत बरती गई क्योंकि सीबीआई ने पीसीएस मेन्स 2015 में इन दोनों अनिवार्य विषयों के मॉडरेशन में गड़बड़ी पकड़ी है और इसे लेकर सीबीआई की ओर से आयोग अज्ञात अफसरों और कुछ बाहरी अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। मॉडरेशन में गड़बड़ी का मामला सामने आने के बाद विशेषज्ञ पीसीएस मेन्स 2016 की कॉपियों का मॉडरेशन करने से बचना चाह रहे थे।

यहां पढ़ें 7 खास बातें 

1. चार नए सदस्यों की उपस्थिति में हुई बैठक 
शासन की ओर से नियुक्त आयोग के छह में से दो सदस्यों मवाना रोड मेरठ की सुशीला और भाटपार रानी के दिनेश चंद्र सिंह ने शुक्रवार को कार्यभार ग्रहण कर लिया। दोनों ही रिटायर जिला जज हैं। दो सदस्यों ने पहले ही कार्यभार ग्रहण कर लिया था। इनमें ऊधमसिंह नगर के रामजी मौर्य ने बुधवार और जानकीपुरम लखनऊ के श्याम प्रकाश श्रीवास्तव ने गुरुवार को जिम्मेदारी संभाली थी। शुक्रवार को हुई आयोग की नियमित बैठक में यह चारों नए सदस्य मौजूद थे। दो अन्य सदस्य गोरखपुर के राजवंत राव और गोमती नगर लखनऊ के आलोक प्रसाद ने अभी कार्यभार ग्रहण नहीं किया है।

2. अंतिम परिणाम के साथ घोषित होगा कटऑफ
मुख्य परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों के प्राप्तांक, कट ऑफ अंक आदि की सूचना पीसीएस 2016 का अंतिम परिणाम घोषित होने के बाद जारी की जाएगी।

3. नए सदस्यों के आने के बाद होगा इंटरव्यू
शासन से नियुक्त सभी छह सदस्यों के कार्यभार ग्रहण करने के उपरांत इंटरव्यू की तिथि घोषित की जाएगी। क्योंकि इंटरव्यू बोर्ड सभी सदस्यों की अध्यक्षता में ही गठित किया जाएगा। आयोग सूत्रों के मुताबिक इंटरव्यू की तिथि और कार्यक्रम अगले सप्ताह घोषित किया जा सकता है।

रिजल्ट का इंतजार: यूपी में PCS समेत 3 बड़ी नियुक्तियों के रिजल्ट अटके

4. मुख्य बातें 
– कुल पद-633.
– पीसीएस प्री 2016- बीस मार्च 2016.
– कुल आवेदक-436413.
– परीक्षा में शामिल हुए-250696.
– पीसीएस प्री का परिणाम- 27 मई 2016.
– मुख्य परीक्षा के लिए सफल-14615.
– मुख्य परीक्षा-बीस सितंबर से आठ अक्तूबर 2016.
– मुख्य परीक्षा में शामिल हुए-12901.

5. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अधीन रहेगा परिणाम
सचिव ने बताया कि पीसीएस मेन्स 2016 का यह परिणाम सुप्रीम कोर्ट में आयोग की ओर से दाखिल की गई एसएलपी संख्या 9610/2017 में पारित होने वाले अंतिम निर्णय के अधीन रहेगा। सचिव ने बताया कि आरक्षण के संबंध में शासकीय नीति के अनुसार भूतपूर्व सैनिकों को केवल समूह ग के पदों पर आरक्षण देय हैं। इसलिए भूतपूर्व सैनिक श्रेणी के वे अभ्यर्थी जो प्रारंभिक/मुख्य परीक्षा में भूतपूर्व सैनिक श्रेणी के आरक्षण का लाभ प्राप्त कर सफल घोषित किए गए हैं, उन्हें अंतिम चयन परिणाम में केवल समूह ग के पदों के सापेक्ष श्रेष्ठातक्रमानुसार विचारित किया जाएगा।

6. आयोग को सुप्रीम कोर्ट से मिली थी राहत
आयोग ने प्री का परिणाम संशोधित करने संबंधी हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दायर की थी। इस पर सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अप्रैल 2017 में हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आयोग में पीसीएस मेन्स 2016 की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू किया गया था। इस परिणाम का अभ्यर्थियों को बेसब्री से इंतजार था। जनवरी से ही परिणाम जारी करने को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं।

7. प्री के प्रश्नों को लेकर उठा था विवाद
पीसीएस प्री 2016 में पूछे गए गलत प्रश्नों का मामला हाईकोर्ट में गया था। प्रतियोगी छात्रों की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने नौ दिसंबर 2016 को प्री में पूछे गए चार प्रश्नों को डिलीट कर तथा एक प्रश्न के दो उत्तर विकल्प को सही मानते हुए परिणाम संशोधित कर जारी करने और संशोधित परिणाम में सफल होने वाले अभ्यर्थियों की मुख्य परीक्षा कराने तथा असफल हुए अभ्यर्थियों को बाहर करने के आदेश दिए थे।