उत्तर प्रदेश राज्य

चेकिंग दौरान कार से 10 लाख रुपए की चांदी बरामद

गुरुवार देर रात उन्नाव रायबरेली मार्ग पर वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक कार से 23 किलो से अधिक चांदी बरामद की। कार सवार युवक कानपुर से चांदी लेकर रायबरेली जा रहे थे। भारी मात्रा में चांदी बरामद होते ही पुलिस ने युवकों से पूछताछ शुरू की। युवकों से बरामद माल से संबंधित अभिलेख न दिखा पाने पर में पुलिस ने उच्चाधिकारियों के साथ ही व्यापार व आयकर अधिकारियों को मामले की सूचना दे दी। पुलिस टीम के मुताबिक चांदी की कीमत 10 लाख रुपए से अधिक बताई जा रही है। प्रभारी निरीक्षण के मुताबिक पकड़े गए युवक यह नहीं स्पष्ट कर पाए हैं कि आखिर चांदी किस मकसद से कहां ले जाई जा रही थी। उधर शुक्रवार सुबह मामले को रफा दफा करने के लिए कई सर्राफ कारोबारी थाने के फेरे लगाते रहे। बीघापुर प्रभारी निरीक्षक मनोज मिश्र व लालकुआं चौकी इंचार्ज प्रशांत भदौरिया, उपनिरीक्षक विनोद कुमार यादव, सुधीर बाबू, प्रवीन कुमार के संग गुरुवार रात उन्नाव रायबरेली मार्ग पर लालकुआं तिराहे के निकट वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इस दौरान लालगंज रायबरेली की तरफ से आ रही हुंडई कार को उन्होंने चेकिंग के लिए रोका। कार में चकेरी थाना क्षेत्र के विजय वर्मा पुत्र शिवदयाल वर्मा निवासी काजीखेड़ा, राजा वर्मा पुत्र शिवरतन वर्मा निवासी रामगली रामबंगला, पुरुषोत्तम पुत्र कालिका निवासी जगई पुरवा आनन्द नगर लालबंगला कानपुर बैठे थे। युवकों के पास कार में दो काले रंग के बैग थे। पुलिस ने जब बैग खुलवाए तब उसमें 23 किलो 40 ग्राम चांदी बरामद हुई। बैग में कुछ चांदी के जेवरात व कच्ची चांदी रखी हुई थी। युवकों के पास से बड़ी मात्रा में चांदी बरामद होते ही प्रभारी निरीक्षक ने उनसे पूछताछ शुरू की। जिस पर उन्होंने खुद को सर्राफ कारोबारी बताया। युवकों का कहना था कि वह व्यापारी और कारीगर हैं। कानपुर से माल खरीदकर लालगंज रायबरेली में गहने बनवाते हैं। वहीं से जेवर व चांदी लेकर आ रहे हैं। पुलिस ने जब उनसे अभिलेख मांगें तो वह कोई भी अभिलेख नहीं दिखा सके। मामला संदिग्ध मान प्रभारी निरीक्षक ने आला अधिकारियों को पूरे मामले से अवगत कराया। साथ ही आय व बिक्री कर अधिकारियों को भी मामले की सूचना दे दी। प्रभारी निरीक्षक मनोज मिश्र के मुताबिक अभी युवकों के विरुद्ध किसी भी तरह का कोई केस दर्ज नहीं किया गया है। जांच चल रही है जांच के बाद उच्चाधिकारियों के निर्देश पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

About the author

राजेंद्र सिंह

राजेंद्र सिंह (सम्पादक)

%d bloggers like this: