स्वास्थ्य

अर्थराइटिस के दर्द से छुटकारा पाना है तो इन चीजों का सेवन करें

अर्थराइटिस रोग से हड्डियां प्रभावित होती हैं. ये एक खतरनाक बीमारी है क्योंकि इसके कारण व्यक्ति के शरीर में कई तरह के बदलाव हो सकते हैं और वो कुरूप दिखने लगता है. अर्थराइटिस में सूजन के साथ दर्द और उंगलियों, बाजुओं, टांगों और कलाइयों में अकड़न होती है. इसमें शरीर के जोड़ों में काफी दर्द होता है. यह दर्द सुबह नींद से जागते समय अधिक होता है. हमारे शरीर की ज्यादातर बीमारियां हमारे खान-पान से जुड़ी होती हैं. अर्थराइटिस के मरीज अगर अपने खान-पान में कुछ चीजों को शामिल कर लें, तो उन्हें इस रोग से जल्दी आराम मिल सकता है.

हल्दी- घुटने के दर्द से आपको अगर छुटकारा पाना हो तो हल्‍दी सबसे बढियां रहती है. हल्‍दी को रोजाना अपनी डाइट में शामिल करें, क्‍योंकि इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं, जो गठिया के दर्द और सूजन से राहत दिलाते हैं.

अदरक- सूजन और दर्द को दूर करने के लिए अदरक का सेवन कई सालों से किया जा रहा है. यह शरीर में प्रोस्टाग्लैंडिन के लेवल को कम करके अर्थराइटिस की समस्या को कम करता है. अदरक दर्द और सूजन कम करने के साथ जी मिचलाने, सिरदर्द जैसी कई समस्याओं को भी दूर करता है.

अनानास- अनानास हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन ए, विटामिन सी, पोटैशियम, फाइबर, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सीडेंट्स और फास्फोरस मौजूद होते हैं, जो हड्डियों को मजबूत करने और वजन को कम करने में मदद करते हैं. रोजाना अनानास का सेवन करने से मांस पेशियों और जोड़ों में होने वाली जलन कम होने के साथ-साथ अर्थराइटिस की समस्या से भी आराम मिलता है.

चेरी- चेरी में फ्लेवोनोइड्स और एन्थोसायनिन भरपूर मात्रा में होता है, जिसमें एंटी-इंफ्लेमेशन गुण होते हैं जो की शरीर में दर्द को बढ़ाने वाले वाले रिवर्स ऑक्सीडेटिव डैमेज को रोकता है. साथ ही ये खून में यूरिक एसिड की बढ़ी हुई मात्रा को भी कम करता है, जो सूजन के दर्द बढ़ाने का एक कारक है. इसलिए अर्थराइटिस के दर्द में चेरी खाना फायदेमंद होता है.

ओमेगा 3- ओमेगा-3 शरीर की लगभग हर प्रणाली के लिए ज़रूरी हैं. ऐसी कोई भी मुख्य क्रिया नहीं जिनमें ओमेगा3 का योगदान न हो.  हमें अपनी आहार शैली में ओमेगा-3 के स्रोत युक्त घटक, जैसे कि अलसी, अखरोट, चिया, पालक, मछली इत्यादि का प्रचुर समावेश नियमित रूप से करना चाहिए. इससे अर्थराइटिस में राहत पाने के लिए काफी मदद मिलती है.

सेब का सिरका- इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम और फास्फोरस जैसे खनिज होतो हैं. इसलिए यह जोड़ों के दर्द से राहत दिलाने में उपयोगी है. इसके अलावा, यह जोड़ों और संयोजी ऊतकों मेंसे विषाक्त पदार्थों को हटाने में मदद करता है. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच सेब का सिरका और शहद मिलाकार पीएं. इस घोल को रोज सुबह पिएं.