स्वास्थ्य

जानलेवा साबित हो सकता है हैंड ड्रायर से हाथ सुखाना

अगर आप भी पब्लिक टॉइलट्स में हाथ धोने के बाद हाथ सुखाने के लिए हैंड ड्रायर का इस्तेमाल करते हैं तो आपको ऐसा करना तुरंत बंद कर देना चाहिए। दरअसल, हाल ही में हुई एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि टॉइलट में लगे हैंड ड्रायर आपके हाथों को सुखाने के साथ-साथ पहले से ज्यादा गंदा कर देते हैं।
ऐप्लाइड ऐंड इन्वाइरनमेंटल माइक्रोबायॉलजी नाम के जर्नल में प्रकाशित इस स्टडी के नतीजे बताते हैं कि टॉइलट में लगे हैंड ड्रायर के सामने महज 30 सेकंड के लिए रखी गई प्लेट्स पर 18 से 60 बैक्टीरिया पाए गए। इस स्टडी के ऑथर्स ने बताया कि यह नतीजे इस बात की ओर इशारा करते हैं कि कई बैक्टीरिया जिसमें पैथोजन और स्पोर्स जैसे बैक्टीरिया भी शामिल हैं वे हैंड ड्रायर के नीचे हाथ रखने पर आपके हाथों पर चिपक जाते हैं।
स्टडी के ऑथर ने पाया कि वैसे तो ड्रायर के नॉजल यानी टोंटी पर बैक्टीरिया का लेवल बेहद कम था लिहाजा और ज्यादा सबूतों की जरूरत है इस बात को साबित करने के लिए हैंड ड्रायर से बैक्टीरिया को खुद-ब-खुद आश्रय मिल रहा है या फिर ड्रायर, टॉइलट की दूषित हवा को बड़ी मात्रा में हाथों पर फैलाता है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि टॉइलट की हवा में शौच के तत्व और यूरिन की छोटी-छोटी बूंदें मौजूद हो सकती हैं।
स्टडी के लीड ऑथर पीटर सेटलो ने कहा, ‘टॉइलट की जितनी ज्यादा हवा फैलेगी, उतना ही ज्यादा बैक्टीरिया आपके हाथों पर शरीर के बाकी हिस्सों पर चिपकेगा और टॉइलट में कितने ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं यह बताने की जरूरत नहीं। ऐसे में अगर मैं ऐसा व्यक्ति जिसका इम्यून सिस्टम कमजोर है और मैं जल्दी बीमार पड़ जाता हूं तो मुझे बैक्टीरिया के प्रति अपना एक्सपोजर जितना हो सके उतना कम करना चाहिए। लिहाजा मैंने हैंड ड्रायर्स का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है।’