धर्म राष्ट्रीय

श्री गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती अगले वर्ष, आयोजित होंगे अनेकों कार्यक्रम 

राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में क्रियान्वयन समिति ने सिक्का और डाक टिकट जारी करने सहित अनेक आयोजनों को अंतिम रूप दिया

अगले वर्ष भारत और पूरे विश्व में महान संत और सिख धर्म के संस्थापक श्री गुरु नानक देवजी की 550वीं जयंती मनाई जाएगी। प्यार, शांति और भाईचारे की गुरु नानक की शिक्षा सर्वव्यापी है।

प्रधानमंत्री ने गुरु नानक जयंती के महत्व को देखते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय क्रियान्वयन समिति (एनआईसी) का गठन किया है। वित्त मंत्री और संस्कृति राज्य मंत्री इस समिति के सदस्य हैं। इस समिति की देखरेख में देश-विदेश में श्री गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती से संबंधित समारोहों का आयोजन किया जाएगा।

श्री गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती मनाने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री की अध्यक्षता में राष्ट्रीय क्रियान्वयन समिति की तीन बैठकें हुईं हैं। तीसरी बैठक 8 नवम्बर, 2018 को हुई जिसमें संस्कृति राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा, पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बडनोर, केंद्रीय इलेक्ट्रानिक और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री एस एस अहलूवालिया तथा पंजाब के पर्यटन मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भाग लिया।

केंद्र सरकार ने नवम्बर 2018 से पूरे देश और दुनिया में श्री गुरु नानक देव जी की 550 वीं जयंती मनाने के लिए विभिन्न गतिविधियां प्रारंभ करने का निर्णय लिया है।  विभिन्न मंत्रालय तथा विभाग और विदेशों में भारतीय मिशन विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे।

श्री गुरु नानक देव जी की 550 वीं जयंती मनाने के लिए निम्नलिखित प्रमुख कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे :

  • वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग तथा डाक विभान द्वारा गुरु नानक देव जी की स्मृति में सिक्का और डाक टिकट जारी किए जायेंगे।
  • गुरु नानक देव जी द्वारा अपने जीवन का अधिकांश समय बिताए गए स्थान  सुलतानपुर लोधी को विरासत नगर के रूप में विकसित किया जाएगा। पंजाब सरकार के सहयोग से आवास तथा शहरी कार्य मंत्रालय तथा पिंड बाबे नानक दा को भी शामिल किया जाएगा। रेल मंत्रालय सुलतानपुर लोधी रेलवे स्टेशन को आधुनिक सुविधाओं के साथ उन्नत बनाएगा।
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा पंजाब में राष्ट्रीय अंतर संप्रदाय अध्ययन संस्थान की स्थापना की जाएगी। संस्थान के लिए राज्य सरकार निःशुल्क जमीन उपलब्ध कराएगी।
  • इलेक्ट्रॉनिक तथा सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत में उच्च शक्ति का टेलीस्कोप स्थापित करेगा ताकि श्रद्धालु पाकिस्तान में करतारपुर साहिब का दर्शन कर सकें।
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा ब्रिटेन और कनाडा के एक-एक विश्व विद्यालय में श्री गुरु नानक देव जी पीठ की स्थापना की जाएगी।
  • संस्कृति मंत्रालय, नई दिल्ली में श्री गुरु नानक देव जी के जीवन और शिक्षा पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित करेगा।
  • राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से गुरू नानक देव जी की 550वीं जयंती मनाने के लिए अनुरोध किया जाएगा। संस्कृति मंत्रालय इसके लिए राज्य सरकारों के साथ समन्वय करेगा।
  • समारोह के हिस्से के रूप में विदेश स्थित भारतीय मिशन अनेक गतिविधियों का आयोजन करेंगे।
  • रेल मंत्रालय श्री गुरू नानक देव जी से जुड़े स्थानों के लिए रेल गाड़ी चलाएगा।
  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कीर्तन, कथा, प्रभात फेरी और लंगर जैसी धार्मिक गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। श्रीगुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एससीवीसी) गतिविधियों का कलेंडर जारी करेगी और इसे लागू करेगी।
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा श्रीगुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सहयोग से संगोष्ठियों, कार्यशालाओं और व्याख्यानों का आयोजन किया जाएगा।
  • दूरदर्शन श्री गुरू नानक देव जी तथा गुरुवाणी पर लाइव प्रसारण का आयोजन करेगा। राज्य सभा और लोकसभा सचिवालयों से अनुरोध किया जाएगा कि वे राज्यसभा टीवी और लोकसभा टीवी पर ऐसे लाइव प्रसारण पर विचार करें।
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय के नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी) द्वारा विभिन्न भारतीय भाषाओं में गुरुवाणी का प्रकाशन किया जाएगा। यूनेस्को से विश्व की भाषाओं में श्री गुरू नानक देव जी के पद्य संग्रहों के अनुवाद और प्रकाशन का अनुरोध किया जाएगा।