उत्तर प्रदेश शिक्षा

पहले करो बच्चो से प्यार, फिर उन्हें दो शिक्षा का अधिकार

Written by Reena Tripathi

सरोजिनी नगर (लखनऊ) ! बच्चों को स्कूलों से जोड़ने के लिए स्कूल चलो अभियान विकासखंड सरोजनी नगर लखनऊ में चलाया जा रहा है| कार्यक्रम की शुरुआत 2 जुलाई 2019 को खंड शिक्षा अधिकारी शिवनंदन सिंह स्कूल चलो अभियान रथ यात्रा शुरू करके की|

स्कूल चलो अभियान का पहला चरण खत्म करते हुए अभियान रथ ने आज पूरा सरोजिनी नगर ब्लॉक का भ्रमण पूर्ण कर लिया, अभियान में जनप्रतिनिधियों का सहयोग भी लिया गया। इस दौरान डोर टु डोर लोगों से संपर्क किया गया और स्कूल में बच्चों को दी जाने वाली सुविघाओं की जानकारी देकर नामांकन कराने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

ब्लॉक स्तरीय रैली में सरोजिनी नगर ब्लॉक के सभी स्कूलों से संपर्क कर विकासखंड के एबीआरसी गीता वर्मा, विनोद गुप्ता, उदय प्रताप सिंह, मनीषा बाजपाई ने वहां के शिक्षकों को जागरूक किया कथा अभिभावकों व बच्चों को रैली अभियान के तहत जागरूक करने तथा नुक्कड़ नाटक का मंचन भी कराया। स्कूल चलो अभियान में खंड शिक्षा अधिकारियों ने शिक्षकों और शिक्षामित्रों को स्‍कूल न जाने वाले बच्‍चों को चिह्नित करने के लिए प्रेरित किया , प्रेरणा स्वरुप सभी का स्‍कूलों में नामांकन कराया जाएगा। अभियान की सफलता के लिए विद्यालय प्रबंध समिति का भी सहयोग लिया जा रहा है। अभियान के तहत जनपद, विकास खंड व विद्यालय स्‍तर पर मेले, गोष्‍ठी, रैली, प्रभातफेरी व सांस्‍कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाए इस हेतु ब्लॉक के सभी स्कूलों को प्रेरित किया गया। स्कूल चलो अभियान के दूसरे चरण के तहत बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों के शिक्षक ,लोगों को बच्चों को दी जाने वाली निशुल्क सुविधाओं की जानकारी देंगे।

बच्चों का अधिक से अधिक नामांकन हो, इसके लिए स्कूल प्रबंध समिति, मां समूह व अन्य लोगों से भी सहयोग लिया जाएगा|इसके तहत मंडल, जनपद व ब्लॉक स्तरीय शिक्षा अधिकारियों को गांवों का दौरा कर लोगों को अपने सभी बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करना होगा। इसके लिए अभिभावकों को बच्चों को दी जाने वाली निशुल्क पाठ्य पुस्तक, यूनीफार्म, स्कूल बैग, जूता-मोजा व स्वेटर की जानकारी भी देनी होगी।

आउट ऑफ स्कूल बच्चों को चिह्नित करने के साथ उनका शत-प्रतिशत नामांकन किए जाने के लिए शिक्षकों को प्रेरित किया गया। विकास खंड स्तर पर पास होने वाले कक्षा पांच के बच्चों की सूची उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक को उपलब्ध कराने के साथ उनका नामांकन कक्षा छह में कराना अनिवार्य है इस हेतु माता समूह की माताओं कोई जिम्मेदारी दी कि वह सभी बच्चों को अगली कक्षा में प्रवेश अवश्य करें|

शिक्षक प्रतिनिधि रीना त्रिपाठी ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से मांग रखी की स्कूल चलो अभियान के साथ साथ समय की महती आवश्यकता है कि शिक्षकों को अन्य शिक्षएत्तर कार्यों से मुक्ति दी जाए ताकि वह पूरी तरह से स्कूल में कक्षाओं का संचालन कर सके और पाठ्यक्रम अनुसार बच्चों को पठन-पाठन करा सकें|

: *कोई न बच्चा न छूटे इस बार, शिक्षा है सबका अधिकार.*