अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय स्वास्थ्य

यूनानी दिवस 11 फ़रवरी को, 50 दिवसीय उल्‍टी गिनती आरंभ

केंद्रीय यूनानी औषधि अनुसंधान परिषद (सीसीआरयूएम) कल से यूनानी दिवस 2019 के लिए उल्‍टी गिनती आरंभ करेगी। अगले 50 दिनों के दौरान सीसीआरयूएम एवं इसके क्षेत्रीय संस्‍थान/केंद्र यूनानी दिवस, जो प्रत्‍येक वर्ष 11 फरवरी को मनाया जाता है, की तैयारी के लिए कई कार्यकलापों एवं कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे।उल्‍टी गिनती की गतिविधियों में मैराथन, रिटाथन, पहेली प्रतियोगिताएं, सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य चर्चा, आम लोगों के लिए दैनिक स्‍वास्‍थ्‍य नुस्‍खे आदि शामिल हैं। सीसीआरयूएम के 23 संस्‍थान/केंद्र मरीजों, उनके सहायकों तथा आम लोगों के बीच जागरुकता फैलाने के उद्देश्‍य से विभिन्‍न रोगों के प्रबंधन में यूनानी औषधि की भूमिका पर 5 मिनट की सार्वजनिक वार्ता के साथ अपने काम-काज की शुरुआत करेंगे। यूनानी दिवस यूनानी बिरादरी के लिए एक महान अवसर है, जिसका आयोजन देशभर में धूमधाम से किया जाता है। यूनानी दिवस कार्यक्रम2019 मनाने के लिए सीसीआरयूएम राष्‍ट्रीय राजधानी में सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए यूनानी औषधि पर एक दो दिवसीय राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन, यूनानी दवाओं के लिए आयुष पुरस्‍कारों के वितरण हेतु एक समारोह, उद्योग जगत एवं शिक्षाविदों के लिए एक प्रदर्शनी, सीसीआरयूएम प्रकाशनों के अनावरण के लिए एक समारोह एवं कई और कार्यक्रमों का आयोजन करेगा।

यूनानी औषधि मरीज स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल के लिए विशेष रूप से, किफायती यूनानी उपचार एवं गुणवत्‍तापूर्ण उत्‍पादों को उपलब्‍ध कराने के जरिए सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य में विशेष रूप से एनसीडी, जीवन शैली विकारों तथा विभिन्‍न पुराने रोगों से मुकाबला करने में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती रही है।

राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में जीवन शैली विकारों एवं उनके प्रबंधन, रेजीमेन थेरेपी, माता व शिशु देखभाल, वृद्धावस्‍था देखभाल, सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य में यूनानी औ‍षधि का समेकन एवं उन्‍हें मुख्‍यधारा में लाने पर चर्चा तथा यूनानी औषधि के वैश्विकरण पर समर्पित सत्र होंगे। ऐसी उम्‍मीद है कि जीवन के प्रत्‍येक क्षेत्रों से जुड़े प्रख्‍यात व्‍यक्तियों की उपस्थिति में यूनानी औषधि प्रणाली के दिग्‍गजों द्वारा की जाने वाली वैज्ञानिक चर्चाओं से विशेषज्ञों, शिक्षाविदों, शोधकर्ताओं एवं देशभर से यूनानी औषधि से संबंधित अन्‍य हितधारक आकर्षित होंगे। इसका उद्देश्‍य यूनानी औषधि के संवर्द्धन एवं विकास से जुड़े विभिन्‍न संस्‍थानों और संगठनों के बीच ज्ञान को साझा करने तथा संपर्कों के विकास के लिए एक शानदार मंच उपलब्‍ध कराना है।

भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने 2016 में एक विख्‍यात भारतीय यूनानी चिकित्‍सक हकीम अजमल खां के जन्‍मदिवस 11 फरवरी को उनके सम्‍मान में यूनानी दिवस के रूप में घोषित किया। आयुष मंत्रालय ने यूनानी औषधि के लिए आयुष पुरस्‍कारों के लिए एक योजना भी अंगीकृत की, जिसमें प्रत्‍येक वर्ष विभिन्‍न वर्गों- सर्वश्रेष्‍ठ शोधपत्र पुरस्‍कार, युवा वैज्ञानिक पुरस्‍कार, सर्वश्रेष्‍ठ शिक्षक पुरस्‍कार एवं लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्‍कार – में 12 पुरस्‍कार प्रदान किए जाने का प्रावधान है। सीसीआरयूएम ने 2017 एवं 2018 में क्रमश: हैदराबाद एवं नई दिल्‍ली में पहले एवं दूसरे यूनानी दिवस का आयोजन किया।